सम्पूर्ण भारतवर्ष का एकमात्र ग्रुप

सैनी कुलदीप सिंह साँखला ’’आधुनिक भीम’’ सम्पूर्ण भारतवर्ष में एकमात्र पहलवान है, जो एक-दो या तीन नहीं बल्कि 12-13 तरह के स्टंट्सों का प्रदर्षन अकेले करते है।

स्टेज के प्रोग्राम

राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त कलाकारों, पहलवानों द्वारा स्टेज पर किये जाने वाले हैरतअंगेज-रोमांचक प्रदर्षन की शानदार प्रस्तुती के मुख्य आकर्षण

1.  12 एम.एम. मोटे लोहे के एक सरिये को आँख से मोड़ना।
    (bending 12-13 mm. Iron Roads by putting throw near eye’s lids.)
2.  12 एम.एम. मोटे लोहे के पांच सरियों को कंठ से एक साथ मोड़ना।
    (bending about 12-13 mm. Five or Six (5-6) thick lron-Roads together by putting them on throat.)
3.  सरियों की कलाई पर स्प्रिंग बनाना।
    (bending about 12-13 mm. thick Iron round his forearm and turn them into shape of spring.)
4.  सीने पर भारी पत्थर तुड़वाना।
    (Putting heavy stone on the chest and allow someone to break it hammer)
5.  लोहे की कीलों के तख्त पर सोना।
    (Breaking big Iran Chain by Waist & Yogic Power.)
6.  पीतल की परात को कागज की तरह फाड़ना।
    (Tearing brass-Soccer like paper)
7.  लोहे की मोटी जंजीर को योग शक्ति द्वारा तोडना।
    (Breaking big Iron Chain by Waits & Yogic Power.)
8.  ब्लेड व काँच को खाना।
    (Chwing Safety rozor Blades & broken pieces of Glass.)
9.  गर्म पानी की थैली को मुहँ फूलाकर फोड़ना।
    (Bursting Hot-Water bottle (bladder) by breaching.)
10.  शरीर सौष्ठव का प्रदर्षन करना।
    
11.  तलवार व त्रिषूल को मुँह के द्वारा 20 इंच पेट में उतारना।
    (Swallowing 20 inch sword, Trident (/Trishul) in the stomach.)
12.  जलनेति, सूत्रनेति, नौली क्रिया व अन्य कई प्रकार की योगिक क्रियाएँ।
    He can inhale water through the nose and pour it out through the mouth and can do it with thread also.
13.  आसनों का प्रदर्षन।
    (Exhiblity of many Asans.)

 

     

     

 

Quick Enquery

 
( ) -
(###) ### - ####
 
Fields with * are required.